कैलाश पर्वत के 10 हैरान कर देने वाले रहस्य,नासा के उड़े होंश !- देखिए वायरल वीडियो

शिव की लीला अपरम्पार है सब्दो में बयान कर नही सकते।प्यार करने वाले अनेको नाम से ऊने याद करते है जैसे की कोही महादेव से बुलाती है तो कोही भोलेनाथ तो कोही संभू तो कोही कुच कहते है।

तो दोस्तो आप लोग जानते ही है की शिव ही है श्रृष्टि बनाने वाले शिव ही हे श्रृष्टि के रचना कर। यिन के आदेश के बिना एक पत्ता भी नही हिल सकता और शिव ने आपनी कुर्बानी देने वाले थे ये श्रृष्टि के लिया बाकी देवता के लिए पानी में हुवे बीस पीकर।

कैलाश पर्वत में कभी कभी डमरू की आवाजे आती है और पहाड़ों में भगवान शिव के चित्र भी बनते है।

देवो के देव महादेव सोयम वहा बिराजमान है इसीलिए वहा कोही भी नही चढ़ सकता और भगवान के पास कोही भी इंसान नही जा सकता इस लिए वहा कोही नही चढ़ सकता।पुराणों में उल्लेख किया गया है की इस पहाड़ पर भगवान शिव का निवास किया गया है। यही से श्रृष्टि का रचना करते है।

कोही भी न चढ़ पाने का रहस्य।

कहते है की जहा भगवान है वहा किसी भी इंसान का जाना नामुंकिन है। और कहते है की यह कोही भी मानव अगर चढ़ गया वो कभी वापस नहीं आता है।

और यह डमरू की धोनी घुजती रहती है।

कुछ लोगो का कहना है की यह से डमरू और मंतर की आवाजे आते है और पहाड़ पर खुद भगवान शिव की परछाई दिखाई देती है।

तिब्बत के गुरु पोहोच्ने लगे पहाड़ पर तब संक की धोनी या कानो पर गुजने लगे और ऊनका कान से खून निकलगाया और सुनने में मुस्लिम होने लगी।