कंगारूओं ने खेला माइंड गेम: 5 प्वाइंट से समझें भारत दौरे पर क्यों नहीं पहुंचे ऑस्ट्रेलिया के ये 4 स्टार प्लेयर

नमस्कार दोस्तों टीम इंडिया के साथ 3 टी20 मैचों की सीरीज खेलने के लिए ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत पहुंच चुकी है। लेकिन टीम के 4 स्टार खिलाड़ी टीम में शामिल नहीं किए गए हैं, जिससे प्रशंसकों के मन में कई सवाल उठ रहे हैं।

क्रिकेट एक्सपर्ट्स का मानना है कि यह ऑस्ट्रेलिया का माइंड गेम है और वे वर्ल्ड कप से पहले अपनी रणनीति का खुलासा नहीं करना चाहते। यही कारण है कि टीम ऑस्ट्रेलिया ने अपने तुरूप के पत्तों को भारतीय दौरे के लिए नहीं चुना है। ऐसा इसलिए किया जा रहा है कि ताकि वे ऑस्ट्रेलिया की अपनी घरेलू पिच पर फ्रेश शुरूआत करें।

ये 4 खिलाड़ी भारत दौरे से नदारद

हाल ही में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच सीरीज खेली गई जिसमें ऑस्ट्रेलिया की सबसे मजबूत टीम ने शिरकत की। लेकिन जब भारत की बारी आई तो उन खिलाड़ियों को आराम देने का फैसला कर लिया गया।

 

जो 4 खिलाड़ी भारतीय दौरे पर नहीं आए हैं, उनमें स्टार ओपनर डेविड वार्नर सहित मिचेल मार्श, मिचेल स्टार्क और मार्कस स्टोइनिश शामिल हैं। कहा गया है कि 3 खिलाड़ियों को आराम दिया गया है।

जबकि कुछ खिलाड़ी चोट की वजह से टीम में शामिल नहीं हैं। हालांकि क्रिकेट एक्सपर्ट इसे अलग रणनीति बता रहे हैं क्योंकि 16 अक्टूबर से ही ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप होने जा रहा है।

5 प्वाइंट में समझें ऑस्ट्रेलियाई रणनीति

2021 में ऑस्ट्रेलिया की टीम विश्व कप की चैंपियन थी। इसलिए वे अपनी प्लानिंग नहीं बताना चाहते हैं।

ऑस्ट्रेलिया की टीम अपने मैच विनर्स को भारत का दौरा नहीं कराना चाहती है, ताकि वे फ्रेश शुरूआत करें।

डेविड वार्नर सबसे खतरनाक खिलाड़ी हैं, इसलिए उन्हें आराम देकर कैमरून ग्रीन को भारत भेजा गया है।

मिचेल मार्श और मार्कस स्टोइनिश को भी विशेष रणनीति के तहत भारत दौरे पर नहीं भेजा गया है।

खिलाड़ियों को तरोताजा रखेंगे कि क्योंकि ज्यादातर टीमें शुरूआती मैचों में ही हल्ला बोल देती हैं।

 

क्या है इसके पीछे की रणनीति

ऑस्ट्रेलिया की टीम अपने स्टार प्लेयर्स को थकाना नहीं चाहती है। हाल ही में जब एशिया कप खेला गया तो अफगानिस्तान की टीम ने शुरूआती दो मैचों में ऐसा खेल दिखाया कि सभी टीमें सकते में आ गईं। हालांकि वे बाद में अपना प्रदर्शन सही ढंग से जारी नहीं रख पाए।

भारत के खिलाफ ज्यादातर खिलाड़ी थके नजर आए और वह मैच भारत ने 101 रनों से जीत लिया। इसलिए ऑस्ट्रेलिया की टीम अपने तुरूप के पत्तों को तरोताजा रखने की रणनीति पर काम कर रही है ताकि वे वर्ल्ड कप में हल्ला बोल सकें। यही वजह है कि वे भारत के खिलाफ अपनी पूरी ताकत का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं।